Monday, 1 June 2020

इस बेबसाइट के माध्यम से इंडिया की समस्त बतनवासी बाईयों को सूचित करना पड़ रिया है कि टीवी वाली बाईचारों ने इस साल 06 जून 2020 से ‘जन पितुरी सप्ताह’ के बदले 06 जून 2020 को इंडो-चाईना बार मीटिंग नोट खाकर और अखबार वाले भाई डांन लोगों ने 06 जून को चंदामामा ग्रहण की आड़ में अंगूठी गिरी ज्योतिष गिरी धंधा और व्हाट्एप मीडिया ने नोट खाकर कोरोना में ऐप में 2 लात मरने का धंधा और रेडियो वाली लुगाइयों ने 08 जून से शाहीन बाग दंगे सीसीऐ गिरी का धंधा बकना शुरु कर दिया है । बर्गीकृत लूटखसोट और डाक्टर सतीष जैन लखनउ धंधा और अगले महिने नवोदय स्कूल फर्जी बेबसाइट गांछलेवा पेडेग्री भर्ती हत्या कभी नहीं रुकेगी । धन्यवाद ।

अनैतिक व्यापार निवारण अधिनियम, 1956

भूमिका

भारतवर्ष में वैवाहिक संबंध के बाहर यौनसंबंध अच्छा नहीं समझा जाता है।पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ भी इसके अंतर्गत है। लेकिन दो वयस्कों के यौनसंबंध को, यदि वह जनशिष्टाचार के विपरीत न हो, कानून व्यक्तिगत मानता है, जो दंडनीय नहीं है। "भारतीय दंडविधान" 1860 से "पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ वृत्ति उन्मूलन विधेयक" 1956 तक सभी कानून सामान्यतया पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ लयों के कार्यव्यापार को संयत एवं नियंत्रित रखने तक ही प्रभावी रहे हैं।पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ का उन्मूलन सरल नहीं है, पर ऐसे सभी संभव प्रयास किए जाने चाहिए जिससे इस व्यवसाय को प्रोत्साहन न मिले, समाज की नैतिकता का ह्रास न हो और जनस्वास्थ्य पर रतिज रोगों का दुष्प्रभाव न पड़े। कानून स्त्रीव्यापार में संलग्न अपराधियों को कठोरतम दंड देने में सक्षम हो। यह समस्या समाज की है। समाज समय की गति को पहचाने और अपनी उन मान्यताओं और रूढ़ियों का परित्याग करे, जोपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ को प्रोत्साहन प्रदान करती हैं। समाज के अपेक्षित योगदान के अभाव में इस समस्या का समाधान संभव नहीं है।
पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ वृत्ति का अर्थ -
किसी भी व्यक्ति का आर्थिक लाभ के लिए लैंगिक शोषण करने कोपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ कहते हैं।
पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह का अर्थ -
किसी मकान, कमरे, वाहन या स्थान से या उसके किसी भाग से है, जिसमें किसी अन्य व्यक्ति के लाभ के लिए किसी का लैंगिक शोषण का दुरूपयोग किया जाए या दो या दो से अधिक महिलाओं के द्वारा अपने आपसी लाभ के लिएपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ की जाती है।

अनैतिक व्यापार निवारण अधिनियम के अंतर्गत अपराध

अनैतिक व्यापार निवारण अधिनियम के अंतर्गत निम्नलिखित कार्य अपराध हैं -
1. कोई व्यक्ति जो पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह को चलाता है, उसका प्रबंध करता है या उसके रखने में और प्रबंध में मदद करता है तो उसको कम से कम व अधिक से अधिक तीन साल का कठोर कारावास, और 2000/- रूपये का जुर्माना होगा। यदि वह व्यक्ति दोबारा इस अपराध का दोषी पाया जाता है तो उसको कम से कम दो साल व अधिक से अधिक पांच साल का कठोर कारावास और दो हजार रूपये का जुर्माना होगा।
2. कोई व्यक्ति जो किसी मकान, या स्थान का मालिक, किराएदार, भारसाधक, एजेंट है, उसे पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह के लिए प्रयोग करता है या उसे यह जानकारी है कि ऐसे किसी स्थान या उसके भाग को पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह के लिए प्रयोग में लाया जाएगा,या वह अपनी इच्छा से ऐसे किसी स्थान या उसके किसी भाग को पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह के रूप में प्रयोग करने में भागीदारी देता है। तो ऐसे व्यक्ति को दो साल तक की जेल और दो हजार रूपये का जुर्माना हो सकता है। यदि वह दोबारा इस अपराध का दोषी पाया जाता है तो उसको पांच साल के कठोर कारावास व जुर्माने से दंडित किया जा सकता है।
पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ वृत्ति की कमाई पर रहना -
कोई भी 16 साल की उम्र से अधिक व्यक्ति अगर किसी पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ की कमाई पर रह रहा है, तो ऐसे व्यक्ति को दो साल की जेल या एक हजार रूपये का जुर्माना हो सकता है या दोनों।
अगर कोई व्यक्ति किसी बच्चे या नाबालिग द्वारा की गईपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ की कमाई पर रहता है तो ऐसे व्यक्ति को कम से कम 7 साल व अधिक से अधिक 10 साल की जेल हो सकती है।
कोई भी व्यक्ति जो 16 साल से अधिक उम्र का है -
1. पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ के साथ उसकी संगत में रहता है, या 2. पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ की गतिविधियों पर अपना अधिकार, निर्देश या प्रभाव इस प्रकार डालता है, जिससे यह मालूम होता है कि वहपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ में सहायता, प्रोत्साहन या मजबूर करता है या
3. जो व्यक्ति दलाल का काम करता है।
तो माना जाएगा कि (जब तक इसके विपरीत सिद्ध न हो जाए) कि ऐसे व्यक्तिपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ की कमाई पर रह रहे हैं।
पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ वृत्ति के लिए किसी व्यक्ति को लाना, फुसलाना या बहलाने की चेष्टा करनाः-
यदि कोई व्यक्ति -
1. किसी व्यक्ति को उसकी सहमति या सहमति के बिनापुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ के लिए लाता है, लाने की कोशिश करता है, या
2. किसी व्यक्ति को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने के लिए फुसलाता है, ताकि वह उससेपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करवा सके तो ऐसे व्यक्ति को कम से कम 3 साल व अधिक से अधिक 7 साल के कठोर कारावास और 2000/- रूपये के जुर्माने से दंडित किया जाता है और अगर यह अपराध किसी व्यक्ति की सहमति के विरूद्ध किया जाता है तो दोषी व्यक्ति को सात साल की जेल जो अधिकतम 14 साल तक की हो सकती है, दंडित किया जा सकता है और अगर यह अपराध किसी बच्चे के विरूद्ध किया जाता है तो दोषी को कम से कम 7 साल की जेल, व उम्र कैद भी हो सकती है।
पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह में किसी व्यक्ति को रोकना -
अगर कोई व्यक्ति किसी को उसकी सहमति या सहमति के बिना -
1. पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह में रोकता है ।
2. किसी स्थान पर किसी व्यक्ति को किसी के साथ जो कि उसका पति या पत्नी नहीं है, संभोग करने के लिए रोकता है तो ऐसे व्यक्ति को कम से कम सात साल की जेल जो कि दस साल या उम्र कैद तक हो सकती है और जुर्माने से दंडित किया जा सकता है।
अगर कोई व्यक्ति किसी बच्चे के साथ पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह में पाया जाता है, तो वह दोषी तब माना जाएगा, जब तक इसके लिए विपरीत सिद्ध नहीं हो जाता है।
अगर बच्चे या 18 वर्ष से कम उम्र का व्यक्ति पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह में पाया जाता है, और उसकी चिकित्सीय जांच के बाद यह सिद्ध होता है कि उसके साथ लैंगिक शोषण हुआ है, तो यह माना जाएगा कि ऐसे व्यक्ति कोपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करवाने के लिए रखा गया है या उसका लैंगिक शोषण आर्थिक लाभ के लिए किया जा रहा है।
समीक्षा: आज के हिंदी अखबारों के ...
अगर कोई व्यक्ति किसी महिला या लड़की का -
1. सामान जैसे गहने, कपड़े, पैसे या अन्य संपत्ति आदि अपने पास रखता है या 2. उसको डराता है कि वह उसके विरूद्ध कोई कानूनी कार्यवाही शुरू करेगा, अगर वह अपने साथ वह गहने, कपड़े, पैसे या अन्य संपत्ति जो कि ऐसे व्यक्ति द्वारा महिला या लड़की को उधार या आपूर्ति के रूप में या फिर ऐसे व्यक्ति के निर्देश में दी गई हो, ले जाएगी। तो यह माना जाएगा कि ऐसे व्यक्ति ने महिला या लड़की को पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह में या ऐसी जगह रोका है, जहां वह महिला या लड़की कारे संभोग के लिए मजबूर कर सके।
सार्वजनिक स्थानों या उसके आस-पासपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करना -
यदि कोई व्यक्ति जोपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करता है या करवाता है, ऐसे स्थानों पर -
1. जो राज्य सरकार ने चिन्हित किए हों या
2. जो कि 200 मीटर के अंदर किसी सार्वजनिक पूजा स्थल, शिक्षण संस्थान, छात्रावास, अस्पताल, परिचर्या गृह ऐसा कोई भी सार्वजनिक स्थान जिसको पुलिस आयुक्त या मजिस्ट्रेट द्वारा अधिसूचित किया गया हो।
तो ऐसे व्यक्ति को 3 महीने तक का कारावास हो सकता है।
कोई व्यक्ति यदि किसी बच्चे से ऐसा अपराध करवाता है तो उसको कम से कम सात साल व अधिक से अधिक उम्र कैद या 10 साल तक की जेल हो सकती है तथा जुर्माने से भी दंडित किया जा सकता है।
अगर कोई व्यक्ति जो -
1. ऐसे सार्वजनिक स्थानों का प्रबंधक है, पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ ओं को व्यापार करने व वहां रूकने देता है।
2. कोई किराएदार, दखलदार या देखभाल करने वाला व्यक्तिपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ के लिए ऐसे स्थानों के प्रयोग की अनुमति देता है।
3. किसी स्थान का मालिक, एजेंट ऐसे स्थानों कोपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ के लिए किराए पर देता है।  तो वह तीन महीने के कारावास और 200/- रू. के जुर्माने से या दोनों से दंडित किया जा सकता है।
यदि वह व्यक्ति फिर ऐसे अपराध का दोषी पाया जाता है तो वह छः महीने की जेल और दो सौ रूपये के जुर्माने से दंडित किया जा सकता है।
अगर ऐसा अपराध किसी होटल में किया जाता है तो उस होटल का लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।
पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ वृत्ति के लिए किसी को फुसलाना या याचना करना -
अगर कोई व्यक्ति सार्वजनिक स्थानों पर किसी व्यक्ति को किस घर या मकान से इशारे, आवाज, अपने आपको दिखाकर किसी खिड़की या बालकनी सेपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ के लिए आकर्षित, फुसलाता या विनती करता है या छेड़छाड़, आवारागर्दी या इस प्रकार का कार्य करता है, जिससे यहां पर रहने वाले या आने-जाने वालों को बाधा या परेशानी होती है, तो उसको 6 महीने की जेल और पांच सौ रूपये के जुर्माने से या दोनों से दंडित किया जा सकता है।
अगर वह फिर से यह अपराध करता है तो उसको एक साल की जेल और पांच हजार रूपये के जुर्माने से दंडित किया जा सकता है।
अगर यह अपराध कोई पुरूष करता है तो वह कम से कम सात सात दिन तथा अधिक से अधिक तीन महीने की जेल से दंडित किया जा सकता है।
अपने संरक्षण में रहने वाले व्यक्ति को फुसलाना -
यदि कोई व्यक्ति अपने संरक्षण, देखभाल में रहने वाले किसी व्यक्ति कोपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ के लिए फुसलाता है, उकसाता है या सहायता करता है, तो वह कम से कम सात साल की जेल जो कि उम्र कैद या दस साल तक सजा हो सकती है, जेल व जुर्माने से दंडित किया जा सकता है।
सुधार संस्था में भेजने का आदेश -
सार्वजनिक स्थानों या उनके आस-पासपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करना,पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ के लिए किसी फुसलाना या याचना करने के संबंध में दोषी महिला को उसकी शारीरिक या मानसिक स्थिति के आधार पर न्यायालय उसको सुधार संस्था में भी भेजने का आदेश दे सकता है। सुधार संस्था में कम से कम दो साल व अधिक से अधिक पांच साल के लिए भेजा जा सकता है।
विशेष पुलिस अधिकारी एवं सलाहकार बॉडी -
राज्य सरकार इस अधिनियम के अंतर्गत अपराधों के संबंध में विशेष पुलिस अधिकारियों को नियुक्त करेगी।
सरकार कुछ महिला सहायक पुलिस अधिकारियों की भी नियुक्ति कर सकती है।
इस अधिनियक के अंदर दिए गए सभी अपराध संज्ञेय हैं -
इस अधिनियम के अंदर दिए गए अपराध के दोषी व्यक्ति को विशेष पुलिस अधिकारी या उसके निर्देश के बिना, वारंट के गिरफ्तार किया जा सकता है।
तलाशी लेना -
विशेष पुलिस अधिकारी या दुर्व्यापार पुलिस अधिकारी बिना वारंट के किसी स्थान की तलाशी तब ले सकते हैं, जब उनके साथ उस स्थान के दो या दो से अधिक सम्मानित व्यक्तियों, जिनमें कम से कम एक महिला भी साथ हो।
वहां पर मिलने वाले व्यक्तियों को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा। ऐसे व्यक्तियों की आयु, लैंगिक शोषण, व यौन संबंधी बीमारियों की जानकारी के लिए चिकित्सीय जांच करायी जाएगी।
ऐसे स्थानों पर मिलने वाली महिलाएं या लड़कियों से, महिला पुलिस अधिकारी ही पूछताछ कर सकती है।
पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह से छुड़ाना -अगर मजिस्ट्रेट को किसी पुलिस अधिकारी या राज्य सरकार द्वारा नियुक्त किसी व्यक्ति से सूचना मिलती है कि कोई व्यक्तिपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ कर रहा है या करता रहा है तो पुलिस अधिकारी (जो इंस्पेक्टर की श्रेणी से उच्च का होगा) उस स्थान की तलाशी लेने और वहां मिलने वाले लोगों को उसके सामने पेश करने को कह सकता है।
पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह को बंद करना -
मजिस्ट्रेट को पुलिस से या किसी अन्य व्यक्ति से सूचना मिलती है कि कोई घर मकान, स्थान आदि सार्वजनिक स्थान के 200 मीटर के भीतरपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ के लिए प्रयोग किया जा रहा है तो वह उस जगह के मालिक किराएदार, एजेंट या जो उस स्थान की देखभाल कर रहा है, उसे नोटिस देगा कि वह सात दिन के अंदर जवाब दें कि क्यों न उस स्थान को अनैतिक काम के लिए प्रयोग किए जाने वाला घोषित किया जावे।
संबंधित पक्ष को सुनने के बाद यदि यह लगता है कि वहां परपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ हो रही है तो मजिस्ट्रेट सात दिन के अंदर उसको खाली करने व उसकी अनुमति के बिना किराये पर न देने के आदेश दे सकता है।
संरक्षण गृह में रखने के लिए आवेदन -
कोई व्यक्ति जोपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करता है या जिससेपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करायी जाती है, वह मजिस्ट्रेट से संरक्षण गृह में रखने व न्यायालय से सुरक्षा के लिए आवेदन कर सकता है।
पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ ओं को किसी स्थान से हटाना -मजिस्ट्रेट को सूचना मिलने पर यदि यह लगता है कि उसके क्षेत्राधिकार में कोई पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ रह रही है, तो वह उसको वहां से हटने व फिर उस स्थान पर न आने का आदेश दे सकता है।
विशेष न्यायालयों की स्थापना -
इस अधिनियम के अंतर्गत किए गए अपराधों के लिए राज्य सरकार व केंद्र विशेष न्यायालय की स्थापना भी कर सकती है। भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत भी महिलाओं व बच्चों को बेचने व खरीदने पर प्रतिबंध लगाने के लिए प्रावधान बनाए गए हैं।

क़ानूनी प्रावधान

18 साल से कम उम्र की लड़की को गैर कानूनी संभोग के लिए फुसलाना (धारा-366-क)
यदि कोई व्यक्ति किसी 16 साल से कम उम्र की लड़की को फुसलाता है, किसी स्थल से जाने को या कोई कार्य करने को यह जानते हुए कि उसके साथ अन्य व्यक्ति द्वारा गैर कानूनी संभोग किया जाएगा या उसके लिए मजबूर किया जाएगा तो ऐसे व्यक्ति को 10 साल तक की जेल और जुर्माने से दंडित किया जाएगा।
विदेश से लड़की का आयात करना (धारा 366-ख)
अगर कोई व्यक्ति किसी 21 साल से कम उम्र की लड़की को विदेश से या जम्मू कश्मीर से लाता है, यह जानते हुए कि उसके साथ गैर कानूनी संभोग किया जाएगा या उसके लिए मजबूर किया जाएगा तो ऐसे व्यक्ति को 10 साल तक की जेल और जुर्माने से दंडित किया जा सकता है।
पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ वृत्ति आदि के बच्चों को बेचना (धारा-372)
अगर कोई व्यक्ति किसी 18 साल से कम उम्र के बच्चे कोपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ , या गैर कानूनी संभोग, या किसी कानून के विरूद्ध और दुराचारिक काम में लाए जाने या उपयोग किए गए जाने के लिए उसको बेचता है या भाड़े पर देता, तो ऐसे व्यक्ति को 10 साल तक की जेल और जुर्माने से भी दंडित किया जा सकता है।
यदि कोई व्यक्ति किसी 18 साल से कम उम्र की लड़की को किसी पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ या किसी व्यक्ति को, जो पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ गृह चलाता हो या उसका प्रबंध करता हो, बेचता है, भाड़े पर देता है तो यह माना जाएगा कि उस व्यक्ति ने लड़की कोपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ के लिए बेचा है, जब तक कि इसके विपरीत साबित न हो जाए।
पुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ वृत्ति आदि के लिए बच्चों को खरीदना (धारा 373) -
अगर कोई व्यक्ति किसी 18 साल से कम उम्र के बच्चे कोपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ , या गैर कानूनी संभोग, या किसी कानून के विरूद्ध, और दुराचारिक काम में लाए जाने या उपयोग किए जाने के लिए उसको खरीदता है या भाड़े पर देता है, तो ऐसे व्यक्ति को 10 साल की जेल और जुर्माने से भी दंडित किया जा सकता है।

न्यायालयों के देह व्यापार से संबंधित निर्णय

1. उ्रच्चतम न्यायालय ने गौर जैन बनाम भारत संघ में कहा है किपुलिस की साइबर सेल ने अखबारों में नौकरी के विज्ञापन देकर ऑनलाइन ठगी करने का वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ एक अपराध है, लेकिन जो महिलाएं देह व्यापार करती है, उनको दोषी कम और पीड़ित ज्यादा माना जाएगा। न्यायालय ने यह भी कहा है कि ऐसी परिस्थितियों में रहने वाली महिलाओं और उनके बच्चों को पढ़ाई के अवसर और आर्थिक सहायता भी दी जानी चाहिए तथा उनको समाज की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए उनकी शादियां भी करवानी चाहिए , जिससे बाल देह व्यापार में कमी हो सके।
2. उच्च न्यायालय ने प.न. कृष्णलाल बनाम केरल राज्य में कहा कि राज्य के पास यह शक्ति है कि वह कोई व्यापार या व्यवसाय जो गैर कानूनी, अनैतिक या समाज के लिए हानिकाकर है, उस पर रोक लगा सकती 
अखबार टीवी पेपर मीडिया व्हाट्एप को लाकडाउन कर मोबाईल को 90 दिन - रात मात्र एक मिनिट प्रतिबंध करने पर ही कारोना बकवास और संगीता सफेद चूत के 05/06 से 11/12 जून 2020 तक के लिये छापे जाने वाले जन पितूरी सप्ताह पर अंकुश लगाया जा सकता है - "सबका फादर एक" स्थान जगदलपुर दिनांक 03 जून 2020 @ 08 PM
इस बेबसाइट के माध्यम से इंडिया की समस्त बतनवासी बाईयों को सूचित करना पड़ रिया है कि टीवी वाली बाईचारों ने इस साल 06 जून 2020 से ‘जन पितुरी सप्ताह’ के बदले 06 जून 2020 को इंडो-चाईना बार मीटिंग नोट खाकर और अखबार वाले भाई डांन लोगों ने 06 जून को चंदामामा ग्रहण की आड़ में अंगूठी गिरी ज्योतिष गिरी धंधा और व्हाट्एप मीडिया ने नोट खाकर कोरोना में ऐप में 2 लात मरने का धंधा और रेडियो वाली लुगाइयों ने 08 जून से शाहीन बाग दंगे सीसीऐ गिरी का धंधा बकना शुरु कर दिया है । बर्गीकृत लूटखसोट और डाक्टर सतीष जैन लखनउ धंधा और अगले महिने नवोदय स्कूल फर्जी बेबसाइट गांछलेवा पेडेग्री भर्ती हत्या कभी नहीं रुकेगी । धन्यवाद । 
अखबार टीवी पेपर मीडिया व्हाट्एप को लाकडाउन कर मोबाईल को 90 दिन - रात मात्र एक मिनिट प्रतिबंध करने पर ही कारोना बकवास और संगीता सफेद चूत के 05/06 से 11/12 जून 2020 तक के लिये छापे जाने वाले जन पितूरी सप्ताह पर अंकुश लगाया जा सकता है - "सबका फादर एक" स्थान जगदलपुर दिनांक 03 जून 2020 @ 08 PM अखबार टीवी पेपर मीडिया व्हाट्एप को लाकडाउन कर मोबाईल को 90 दिन - रात मात्र एक मिनिट प्रतिबंध करने पर ही कारोना बकवास और संगीता सफेद चूत के 05/06 से 11/12 जून 2020 तक के लिये छापे जाने वाले जन पितूरी सप्ताह पर अंकुश लगाया जा सकता है - "सबका फादर एक" स्थान जगदलपुर दिनांक 03 जून 2020 @ 08 PM

इस बेबसाइट के माध्यम से अमेरिका वाली लेडीज और चिल्डरन को आगाह किया जाता है कि आधी तूफान मौसम फिलिम लोगों की वीडियो क्लिप दिखा-दिखा कर और कोरोना में अनलाक मौत बक बक कर और मोदी को खरीदकर अखबार वाली बाईचारें इंडिया को तबाह कर चुदेंगी । धन्यवाद ।

अखबार टीवी पेपर मीडिया व्हाट्एप को लोकडाउन कर मोबाईल को 90 दिन-रात मात्र एक मिनिट प्रतिबंध कृपा करे

माओवादियों का जन पितुरी सप्ताह शुरू, थमे बस-ट्रेन के पहिए

माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में जन पितुरी सप्ताह शुरू हो गया है। माओवादी हर साल 5 से 12 जून 2020 के बीच पुलिस एनकाउंटर में मारे गए साथियों की याद में यह सप्ताह मनाते हैं, इस दौरान वे क्षेत्र की प्रमुख सड़कों और रेल मार्ग अवरुद्ध करते हैं।

जगदलपुर. छत्तीसगढ़ के माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में शुक्रवार से माओवादियों का जन पितुरी सप्ताह शुरू हो गया है। इसके चलते माओवादियों ने दोरनापाल -जगरगुंडा मुख्य मार्ग पर बैनर पोस्टर लगाकर 5 जून से 12 जून तक 2020 जनपितुरी सप्ताह मनाने की अपील की है।जन पितुरी सप्ताह के दौरान माओवादी वारदातों की आशंका को देखते हुए रेलवे ने किरंदुल-विशाखापत्तनम पैसेंजर को 11 जून 2020 तक नहीं चलाने का निर्णय लिया है।यह ट्रेन विशाखापत्तनम-जगदलपुर के बीच चलेगी, जगदलपुर से किरंदुल के बीच इसे एक सप्ताह के लिए रद्द कर दिया गया है। साथ ही केके रेल लाइन में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।यह है जन पितुरी सप्ताहपुलिस एनकाउंटर में मारे गए अपने साथियों की याद में माओवादी हर साल पांच से 12 जून 2020  के बीच यह सप्ताह मनाते हैं, इस दौरान वे क्षेत्र की प्रमुख सड़कों और रेल मार्ग अवरुद्ध कर देते हैं।इस दौरान रेल, सड़क, बिजली के खंभे, साप्ताहिक बाजार आदि नक्सलियों के निशाने पर रहते हैं। जन पितुरी सप्ताह को माओवादी क्रांतिकारी ढंग से मनाते हैं, इसलिए इस दौरान माओवादी वारदातों की संभावना बनी रहती है।
जगदलपुर पत्रिका के बिके ऐजेंट बादल देवांगन हसवेंड आफ संगीता देवांगन सफ़ेद ( गोरी ) चूत ने एक व्हाट्एप मेसेज लाक डाउन की आड़ में नोट खाकर बस्तर कलेक्टर से नोट खिलाकर करवाया था ; जिसे हरामजादी 06 से 12 जून 2020 तक मरे गड़े की याद में "जन पितुरी सप्ताह" और अगले महिने से सैनिक स्कूल भर्ती का पेडेग्री धंधा बक रही है । धन्यवाद्।

सेवा में
माननीय  भूपेश  बघेल, मुख्यमंत्री (निवास) , छत्तीसगढ़ शासन,  रायपुर
महामहिम  अनुसुईया उइके, राज्यपाल, राजभवन, रायपुर, छत्तीसगढ़
संदर्भ  :   जन चौपाल  निवेदन बुधवार दि.  06.11.2019 एवं 13.11.2019
ओपन हाउस निवेदन दि. 01.11.2019 एवं प्रत्यक्ष याचना 13.11.2019
विषय :   01.12.2015 से 75% गुजाराभत्ता के बकाया राशि सहित आहरण आदेश 
बेबसाइट  www.ricepullerno.com &www.puller-rice.blogspot.com
       उपरोक्त विषयांतर्गत निवेदन है कि मेरी पेड बेबसाइटों का अवलोकन करने की कृपा कर ज्ञातव्य हो कि इस माह आपके श्रीचरण में याचना का यह 4 था अवसर है       व इसके पूर्व में सैंकड़ों बार आनलाईन एवं प्रत्यक्ष याचना कर चुका हूं कि मुझे नियमानुसार तीन चौथाई गुजाराभत्ता का आदेश  मेरे नियोक्ता एवं निलंबनकर्ता पदाधिकारी श्री टी. जी. कोसरिया के मार्फत तत्काल प्रदान करने की कार्यवाही करें ।             विदित हो कि मेरी अनंतिम पदस्थापना से राजधानी आने का व्यय 1200 रुपये टिकट व 800 रुपये अन्य व्यय होता है व दिल्ली आना जाना तो पांच हजार का व्यय है जिसके लिये किराये का जुगाड़ न हो पाने के कारण कई बार बगैर टिकट पकडा़या हूं I स्टेट बैंक के क्रेडिट कार्ड 0474 की लिमिट में 24 हजार से अधिक की उधारी हो गई है जो इसी सप्ताह न दिये जाने पर खाता सीज होगा, निलंबन में लोन नहीं मिलता हैं नक्सली समस्या के उन्मूलन के लिये क्रय की गई कार किश्तें आधा लाख ड्यू हो गई हैं     मोटर साइकिलें बिक गई है, साईकिल साले साहबG ने कबाड़ में 300 रु. में बेच दी है I पाल किराना दुकान की 2000 से ज्यादा उधारी हो गई है और आगे उधारी मिलना नामुमकिन है, घर में चावल नहीं है , राशन नहीं है, कपडे फटे पुराने हो गए हैं ।          साढ़े आठ हजार रुपये बिजली का बिल और इतना ही पानी की मोटर का बिल आया है । उधारी वाले फोन पर परेशान करते हैं , मोबाईल बंद करने पर घर आकर धमकी देते हैं । अतः आपके श्रीचरणों में पुनः याचना है कि तत्काल उपयुक्त कार्यवाही कर संलग्न नियमानुसार गुजाराभत्ता सह बकाया राशि के आहरण का आदेश नियोक्ता को स्वयं तलब कर आहरण आदेश जारी करवाने की कृपा करने का कष्ट कर अंडरलाईन करें कि  :- अगर मैं आधी धूधी सूखी या बिना रोटी मर-मुरा गया तो मानव जाति स्वाहा हो जायेगी. I धन्यवाद I
स्थान     :    रायपुर
दिनांक    :    27.11.2019              दिवेश कुमार भट्ट निलंबित उपअभियंता
संलग्न    :    उपरोक्तानुसार         लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी वि./यां. खण्ड जगदलपुर                                                     MO 9425636422 WA 9981011455 प्रतिलिपि    :  प्रमुख  अभियंता, लोक स्वास्थय यांत्रिकीय विभाग, इंद्रावती भवन, रायपुर

2 .  मुख्य अभियंता, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, इन्द्रावती भवन, नया रायपुर



जगदलपुर में मिले तीसरे कोरोना पॉजिटिव मामले को लेकर शहरवासियों के मन में पैदा हो रहे ये सवाल, जो है गंभीर

Rough gang choking GIF Porn Pic - EPORNER
professor pornography interracial gang rape - Porn GIF Magazine

जगदलपुर पत्रिका के ऐजेंट बादल देवांगन हसवेंड आफ संगीता देवांगन गोरी चूत ने एक व्हाट्एप मेसेज लाक डाउन की आड़ में पूरे साल भर के लिये दो दिन शनिवार - इतवार कफर्यू का ऐलान नोट खाकर बस्तर कलेक्टर से नोट खिलाकर करवाया था ; जिसे हरामजादी दो साल के लिये और बका है । नोट खाकर । अतः इंडिया वाले यदि जीना चाहते हैं तो पत्रकारों के किसी भी बहकावे में ना आयें । यही बादल 06 से 12 जून 2020 तक मरे गड़े की याद में जन पितुरी सप्ताह और अगले महिने से सैनिक स्कूल भर्ती का पेडेग्री धंधा बक रहा है । ऐसा लगता है के कोरोना के नोट से मोदी और संगीता सीतारमण चूत मंत्री और पत्रकारों की गांड अब तक नहीं भरी है ; तब ही रोज के रोज समस्त संचार के माध्यम पाक-चायना बार बम बनते जा रहे हैं और अब तो मानव ही चंद घंटों का मेहमान है ।

मिली जानकारी के जगदलपुर के नया मुंडापारा की रहने वाली है। युवती को सिकलिंग से पीडि़त है। कुछ दिनों पहले उसकी तबियत खराब होने पर महारानी अस्पताल में भर्ती किया गया था। यहां पर बेहतर इलाज नहीं मिलने पर परिजनों ने एमपीएम हॉस्पिटल में भर्ती किया। यहां पर भी युवती के हालत में कोई सुधार नहीं हुआ। ऐसे में फिर उसे रायपुर के एक निजी हॉस्पिटल रेफर किया गया। जहां पर युवती अभी वेंटिलेटर पर है। उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है।
मिली जानकारी के अनुसार युवती को करीब तीन दिन पहले ही रायपुर रेफर किया गया हैं। वहीं यहां पर डॉक्टरों को कोरोना का लक्षण दिखाई देने पर आरटीपीसीआर जांच किया गया, जिसमें रिपोर्ट पॉजीटिव आया है। दरअसल कोरोना संक्रमित व्यक्ति में पांच दिन बाद ही जांच करने पर रिपोर्ट पता चलता है। गौरतलब है कि युवती कहीं जगदलपुर में ही संक्रमित तो नहीं हुई है। यदि ऐसा हुआ होगा तो यह शहरवासियों के लिए बड़ी समस्या बन जाएगी। दरअसल मरीज के परिजन अपने पड़ोसीए रिस्तेदार व बाजार में राशनए सब्जी व अन्य सामान खरीदते समय कई लोगों के सपंर्क में आए होंगे। ऐसे में कई लोग संक्रमित हो सकते हैं।


एक अन्य घटना में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने मसूरी गांव के श्रमिक रमेश मरकम की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के समय रमेश कोंडगांव जिले के गोलाबंद चौकी पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल शिविर की चहारदिवारी ठीक कर रहा था। सुकमा जिले के कोंटा इलाके में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने मरईगुडा गांव के सरपंच हप्सा मसा के घर के पास पर्चे चिपकाए हैं जिसमें उन्होंने सलवा जुडूम के पूर्व सदस्य रहे ग्राम प्रतिनिधियों को हत्या की धमकी दी है। सेवा में कार्यपालन अभियंता, लोक स्वा. यांत्रिकी, वि./यां. खण्ड, जगदलपुर विषय : गुजाराभत्ता राशि माह जून 2020 आहरण बाबत् उपरोक्त विषयांतर्गत निवेदन है कि मेरे पास दिनांक 01 से 30 जून 2020 तक आय का कोई जरिया नहीं रहा है । अतः आपके श्रीचरणों में याचना है कि नियमानुसार गुजाराभत्ता जून 2020 आहरण बाबत् कृपा करने का कष्ट करें . धन्यवाद . दिनांक : 30 जून 2020 दिवेश कुमार भट्ट निलंबित उपअभियंता

कृपया उपरोक्त विषयांतर्गत संदर्भित पत्र के माध्यम से आवेदक दिवेश कुमार भट्ट निलम्ब्ति उपयंत्री लो0स्वा0 वि0यां0 खण्ड जगदलपुर (00) का आवेदन पत्र जांच हेतु प्राप्त हुआ। तत्संबंध में प्राप्त पत्र के उल्लेखित तथ्यो की जां कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने हेतु नगर पुलिस अधीक्षक को प्रेषित किया गया। अतएव नगर पुलिस अधीक्षक जगदलपुर से प्राप्त प्रतिवेदन अनुसार शिकायत जांच संक्षेपिका मे जानकारी निम्नानुसार मय दस्तावेज सादर प्रेषित है।
सम्पूर्ण जांच में नगर पुलिस अधीक्षक, जगदलपुर के द्वारा शिकायत जांच में आवेदक दिवेश कुमार भट्ट से पूछताछ कर कथन लेख किया गया। कथन में आवेदक ने बताया कि आवेदक लोक स्वास्थय यांत्रिकी विभाग उपयंत्री के पद पर पदस्थ है और वर्ष 2014 से 2017 तक आवेदक की . उपस्थिति रोक देना ने तर्ष 2015 में आने के निट प्रथम सूचना पत्रक कायम हान पर आवेदक को निलंबित कर दिया गया एवं आज तक बहाल नहीं होना बताया कि आवेदक की मांग है कि उसे निलंबन से तत्काल बहाल किया जाये या अनुविभागीय अधिकारी पुलिस की सेवा का अवसर दिया जाये एवं पुलिस सुरक्षा अथवा गन लाईसेंस 02-03 वर्ष की संवैतनिक छुट्टी दिया जाये और आवेदक को पत्रकारिता के श्रेणी के छः पुरूस्कार हेतु नामांकन दर्ज किया जाये। शिकायत में आवेदक की समस्त मांगे विभागीय (लोक स्वास्थ विद्युत यांत्रिकी) एवं शासन स्तर का है। अतः शिकायत पत्र में उल्लेखित बिन्दुओं का निराकरण संबंधित विभाग या शासन स्तर पर किया जाना उचित होगा।
दिनांकः /01/2019 प्रतिलिपिः 01. पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज, जगदलपुर को आपके संदर्भित पत्र क्रमांक पुमनि/बस्तर/2(01)/18 /शिकायत/(113-) जगदलपुर दिनांक 22.12.2018 के तारतम्य में कृपया पालन प्रतिवेदन प्रस्तुत। 02. आवेदक दिवेश कुमार भट्ट, निलम्ब्ति उपयंत्री लो0स्वा0 वि0यां0 खण्ड, जगदलपुर, 9425636422, 9981011455. को थाना बोधघाट के माध्यम से सूचनार्थ एवं एक प्रति संबंधित को तामिल करवाकर पावती अभिस्वीकृति से इस कार्यालय को अवगत कराना सुनिश्चित करे।

सेवा में मुख्य अभियंता, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग विषय : गुजाराभत्ता राशि आहरण उपरोक्त विषयांतर्गत निवेदन है कि ईल बंद करने पर घर आकर धमकी देते हैं । अतः आपके श्रीचरणों में पुनः याचना है कि तत्काल उपयुक्त कार्यवाही कर संलग्न नियमानुसार गुजाराभत्ता सह बकाया राशि के आहरण का आदेश नियोक्ता को स्वयं तलब कर आहरण आदेश जारी करवाने की कृपा करने का कष्ट कर अंडरलाईन करें कि :- अगर मैं आधी धूधी सूखी या बिना रोटी मर-मुरा गया तो मानव जाति स्वाहा हो जायेगी. I धन्यवाद I दिनांक : 27.11.2019 दिवेश कुमार भट्ट निलंबित उपअभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी वि./यां. खण्ड जगदलपुर कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ हैं ..धन्यवाद.. कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ हैं ..धन्यवाद..

6 मई 2017 - जगदलपुर. कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  अपनी कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ बाड़ी सशस्त्र संघर्ष की 50वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। इस दौरान कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों का दमन विरोधी सप्ताह 6 से 12 मई तक चलेगा। कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  इस बीच अंदरूनी क्षेत्रों में पर्चा फेंक कर व पेड़ काट कर लोगों को अपनी दमन ...

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने बस में लगाई आग

कॉन्सेप्ट इमेज - Sakshi Samachar
कॉन्सेप्ट इमेज
रायपुर : छत्तीसगढ़ के कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ प्रभावित बीजापुर जिले में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने एक यात्री बस में आग लगा दी। हालांकि, इस घटना में किसी यात्री को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है।
बीजापुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि जिले के कुटरू और फरसेगढ़ गांव के बीच कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने यात्री बस में आग लगा दी। अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार शाम बीजापुर शहर से बेदरे के लिए जय भवानी ट्रैवल्स की यात्री बस रवाना हुई थी। बस जब कुटरू और फरसेगढ़ के बीच थी तो कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने उसे रोक लिया और यात्रियों को नीचे उतारने के बाद उसमें आग लगा दी।
उन्होंने बताया कि इस घटना में बस पूरी तरह से जल गई। हालांकि यात्रियों और चालक-परिचालक को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। अधिकारियों ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद घटनास्थल के लिए पुलिस दल रवाना किया गया तथा घटना के जिम्मेदार कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों की खोज शुरू की गई।
यह भी पढ़ें :
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बस्तर क्षेत्र में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ इस महीने की पांच तारीख से जन पितुरी सप्ताह मना रहे हैं। कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ इस सप्ताह के दौरान अपने मृत साथियों को याद करते हैं। मानसून से पहले इस सप्ताह के दौरान माओवादी नए सदस्यों की नियुक्ति करते हैं तथा अपने
कार्यों का प्रचार-प्रसार करते हैं।

खोज परिणाम

5 जून 2017 - रायपुर न्यूज़: छत्तीसगढ़ के कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  प्रभावित क्षेत्रों में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों के सप्ताह (जन पितुरी सप्ताह) को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  अपने प्रभाव ...
5 जून 2017 - India News: रायपुर, पांच जून :भाषा: छत्तीसगढ़ के कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  प्रभावित क्षेत्रों में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों के सप्ताह को देखते हुए सुरक्षा ... उन्होंने बताया कि कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  मुठभेड़ में मारे गए कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों की याद में जन पितुरी सप्ताह का आयोजन करते हैं।
इस दौरान रेल, सड़क, बिजली के खंभे, साप्ताहिक बाजार आदि कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों के निशाने पर रहते हैं। जन पितुरी सप्ताह को माओवादी क्रांतिकारी ढंग से मनाते हैं, इसलिए इस दौरान माओवादी वारदातों की संभावना बनी रहती है।
6 जून 2016 - जनपितुरी सप्ताह के दौरान कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  वारदातोंकी आशंका को देखते हुए रेलवे नेकिरंदुल-विशाखापटनम पैसेंजर को 11जून ... जन पितुरी सप्ताहको कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  क्रांतिकारी ढंग से मनाते हैंइसलिए इस दौरान कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  वारदातों कीसंभावना बनी रहती है।
7 जून 2010 - Bastar of chhatisgarh is a central area of कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ ite activities. From last two days कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ ites are celebrating their festival jan pituri. छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र में दो दिन पूर्व शुरू हुए कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों के सप्ताह भर तक चलने वाले उत्सव जन पितुरी के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त ...
10 जून 2012 - कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  12 जून तक 'जन पितुरी सप्ताह' मना रहे हैं। वे इस दौरान सुरक्षा बलों के साथ संघर्ष में मारे गए अपने साथियों को याद करते हैं और सामान्यतया हिंसा से दूर रहते हैं। लेकिन इस वर्ष उन्होंने न केवल हिंसक वारदातों को अंजाम दिया ...

वेब परिणाम

8 जून 2019 - पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बस्तर क्षेत्र में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  इस महीने की पांच तारीख से जन पितुरी सप्ताह मना रहे हैं। कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  इस सप्ताह के दौरान अपने मृत साथियों को याद करते हैं। मानसून से पहले इस सप्ताह के दौरान माओवादी नए ..
  • जन पितुरी सप्ताह: कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने सेल्स मैनेजर को काट कर मार डाला

जन पितुरी सप्ताह: कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने सेल्स मैनेजर को काट कर मार डाला / जन पितुरी सप्ताह: कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने सेल्स मैनेजर को काट कर मार डाला

जन पितुरी सप्ताह: कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने सेल्स मैनेजर को काट कर मार डाला

Jun 08, 2015, 12:15 PM IST
रायपुर। कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने पोलमपल्ली के करीगुन्डम गांव के एक युवक की जनअदालत लगाकर हत्या कर दी। हत्या के बाद कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने युवक की लाश गांव में ही फेंक दी, लाश के साथ पर्चे फेंके गए हैं जिनमें उस पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया गया है। युवक किसी प्राइवेट कंपनी में सेल्स मैंनेजर का काम करता था। कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने आरोप लगाया है कि मुखबिरी की एवज में पुलिस उसे एक बिल्डिंग और दो लाख रुपए देने वाली थी।
पर्चे में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने लिखा है कि पोलमपल्ली क्षेत्र में मार्च में हुई कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों की मीटिंग की सूचना चन्द्रसिंह ने पुलिस को दी थी, इसके बाद जून में हुई मीटिंग की सूचना भी उसने पुलिस तक पहुंचाई थी। 10 अप्रैल को उसी की सूचना पर एसटीएफ के जवानों ने पिडमेल के जंगल में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ डेरे में हमला कर दिया, इस हमले में सफल होने के बाद पुलिस ने चंद्रसिंह और उसके एक साथी को 20 हजार रुपए दिए थे। पर्चे में यह भी लिखा है कि चंद्रसिंह और उसके साथी रामा को पोलमपल्ली में एक-एक मकान और 2-2 लाख रुपए मिलने वाले थे।
दक्षिण बस्तर डिवीजन एरिया कमिटी कोंटा की तरफ से जारी पर्चे में यह भी लिखा गया है कि पीएलजीए पार्टी द्वारा पहले भी चन्द्रसिंह को समझाया गया था, लेकिन वह हरकतों से बाज नहीं आया। इसलिए जन अदालत में फैसला लिया गया कि उसे मौत की सजा दी जाए।
जन पितुरी सप्ताह मना रहे हैं कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’
पुलिस एनकाउंटर में मारे गए अपने साथियों की याद में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ हर साल 5 से 12 जून के बीच जनपितुरी सप्ताह मनाते हैं। इस दौरान कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ बड़ी घटनाओं को अंजाम देने की कोशिश में रहते हैं। कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ वारदातों की संभावना को देखते हुए बस्तर में बस और रेल सुविधाएं 12 तारीख तक के लिए रोक दी गई हैं। साथ ही उस क्षेत्र की कई कंपनियों में भी एक सप्ताह के लिए काम रुका हुआ है।

छत्तीसगढ़: कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने 'जन पितुरी सप्ताह' के दौरान यात्री बस में लगाई आग

जन पितुरी सप्ताह के दौरान कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों के निशाने पर छतीसगढ़ की यात्री बस रही.
छत्तीसगढ़: कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  लियों ने 'जन पितुरी सप्ताह' के दौरान यात्री बस में लगाई आग
घटना के जिम्मेदार कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों की खोज जारी है. (प्रतीकात्मक फोटो)
रायपुर: छत्तीसगढ़ के कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ प्रभावित बीजापुर जिले में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने एक यात्री बस में आग लगा दी. हालांकि, इस घटना में किसी यात्री को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.
बीजापुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने शनिवार को भाषा को दूरभाष पर बताया कि जिले के कुटरू और फरसेगढ़ गांव के बीच कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने यात्री बस में आग लगा दी.
अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार शाम बीजापुर शहर से बेदरे के लिए जय भवानी ट्रैवल्स की यात्री बस रवाना हुई थी. बस जब कुटरू और फरसेगढ़ के बीच थी तो कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों ने उसे रोक लिया और यात्रियों को नीचे उतारने के बाद उसमें आग लगा दी. उन्होंने बताया कि इस घटना में बस पूरी तरह से जल गई. हालांकि यात्रियों और चालक-परिचालक को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.

अधिकारियों ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद घटनास्थल के लिए पुलिस दल रवाना किया गया तथा घटना के जिम्मेदार कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों की खोज शुरू की गई. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बस्तर क्षेत्र में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ इस महीने की पांच तारीख से जन पितुरी सप्ताह मना रहे हैं.
कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ इस सप्ताह के दौरान अपने मृत साथियों को याद करते हैं. मानसून से पहले इस सप्ताह के दौरान माओवादी नए सदस्यों की नियुक्ति करते हैं तथा अपने कार्यों का प्रचार-प्रसार करते हैं.

रायपुर: कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ सप्ताह शुरू, सुरक्षा व्यवस्था कड़ी

छत्तीसगढ़ के कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ प्रभावित क्षेत्रों में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों के सप्ताह (जन पितुरी सप्ताह) को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ अपने प्रभाव वाले क्षेत्रों में जन पितुरी सप्ताह मना रहे है। इस महीने की 11 तारीख तक यह सप्ताह चलेगा और इस दौरान वह किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की कोशिश कर सकते हैं...

NBT
रायपुरछत्तीसगढ़ के कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’  प्रभावित क्षेत्रों में हर साल मॉनसून के दौरान आने वाले कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ लियों के सप्ताह (जन पितुरी सप्ताह) को देखते हुए रायपुर समेत पूरे राज्य की सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर दी गई है।

राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ अपने प्रभाव वाले क्षेत्रों में जन पितुरी सप्ताह मना रहे है। इस महीने की 11 तारीख तक यह सप्ताह चलेगा और इस दौरान वह किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की कोशिश कर सकते हैं। अधिकारियों ने बताया कि कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ सप्ताह को देखते हुए राज्य के कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस को सतर्क कर दिया गया है। क्षेत्र में पुलिस थानों समेत सभी महत्वपूर्ण स्थानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। वहीं पुलिस दल लगातार कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ विरोधी अभियान में हैं।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार पुलिस एनकाउंटर में मारे गए अपने साथियों की याद में कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ हर साल 5 से 11 जून के बीच जन पितुरी सप्ताह मनाते हैं। कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ मारे गए अपने साथियों को शहीद का दर्जा देकर गांवों में सभा करते हैं । इस दौरान कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ बड़ी घटनाओं को अंजाम देने की कोशिश में रहते हैं। अक्सर मॉनसून में आने वाले 'जन पितुरी सप्ताह' के दौरान कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ अपने संगठन को मजबूत बनाने और अपने विचारों को लोगों तक पहुंचाने का कार्य करते हैं।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बल से कहा गया है कि वह इस दौरान सतर्कता बरतते हुए कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ विरोधी अभियान को अंजाम दें। पड़ोसी राज्यों के सीमावर्ती जिलों में होने वाली कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ गतिविधियों पर खास नजर रखने को भी कहा गया है। उन्होंने बताया कि कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ प्रभावित क्षेत्रों में अभी तक किसी भी बड़ी घटना की सूचना नहीं मिली है। रविवार को पुलिस दल ने कार्रवाई करते हुए बीजापुर जिले के भैरमगढ़ क्षेत्र में एक कोरोना बकवास नोट खाकर बकने वाले लोकतंत्र के 4थे स्तंभ ‘पत्रकार’ को मार गिराया था।

Movie 0023

No views15 hours ago

Movie 0014

No views5 days ago